www.yuvasamvad.org

CURRENT ISSUE | ARCHIVE | SUBSCRIBE | ADVERTISE | CONTACT

सम्पादकीय एवं प्रबन्ध कार्यालय

167 ए/जी.एच-2

पश्चिम विहार, नई दिल्ली-110063

फोन - + 91-11-25272799

ई-मेल – ysamvad[~at] gmail.com

मुख्य पृष्ठ  *  पिछले संस्करण  *  परिचय  *  संपादक की पसंद

सदस्यता लें  *  आपके सुझाव

मुख्य पृष्ठ  *  पिछले संस्करण  *  परिचय  *  संपादक की पसंद  *  सदस्यता लें  *  आपके सुझाव

युवा संवाद की सदस्यता के लिए सहयोग राशि वार्षिक : 300 रुपये (व्यक्तिगत) : 360 रुपये (संगठनों के लिए) पांच वर्ष : 1200 रुपये दस वर्ष : 2000 रुपये आजीवन : 3000 रुपये विदेश में : 200 अमेरिकी डॉलर (पांच साल के लिए)
अंक के प्रमुख आकर्षण
फरवरी 2019
संपादकीय

2019 का चुनाव जनता लड़ेगी या गठबंधन

युवा संवाद - फरवरी 2019 अंक में प्रकाशित

 

श्याम बेनेगल की एक फिल्म है वेलकम टू सज्जनपुर’। उस फिल्म के दो कोरस हैं। एक में तो देश में राजतंत्र और सामंतवाद समाप्त करके लोकतंत्र के आगमन का उत्सव मनाया जा रहा है। दूसरे में लोकतंत्र के पतन पर तंज है। पहला गीत है दृराजा गए रानी गईं, देश भी स्वतंत्र है, अब तो प्रजातंत्र है। दूसरा गीत है  ...

 

आगे पढ़े...

यह जो बिहार है : अवैध शराब का प्रदेश —  डाॅ. योगेंद्र

परिप्रेक्ष्य : लेखक होने का मतलब — अरुंधति राय

सहजीवन : जिन्दा रहने की कंुजी — ईशान अग्रवाल

राजनीति : राहुल गांधी का ‘नेता’ बन जाना — असद शेख

चुनाव 2019 : राजनीति और जातिवाद लज्जा — शंकर हरदेनिया

चर्चा : नेहरू-पटेल-बोस के सम्बन्ध और... — किशनगिरि गोस्वामी

औद्योगिकीकरण : यह जाम और जहर तो हमने... — पंकज चतुर्वेदी

अर्द्धकुंभ : अव्यवस्था और काॅरपोरेट का संगम — सुशील मानव

काॅरपोरेटी लूट : प्राकृतिक संसाधनों की लूट — प्रो. राहुल वर्मन

काॅरपोरेटी लूट : रिलायंस की गैस इतनी मंहगी क्यों? — प्रो. राहुल वर्मन

कृषि : मिट्टी बचेगी तो देश बचेगा — वसंत फुटाणे

भोपाल गैस : त्रासदी की चैंतीसवीं... — अब्दुल जब्बार, एन.डी. जयप्रकाश

शमशेर सिंह बिष्ट : आधी सदी में निगाह डालते हुए — शेखर पाठक

बेबाक : कौन जात हो भाई — सहीराम